Tuesday, 16 July 2019, 9:49 AM

धर्म एवं ज्योतिष

प्रेम तो प्रेम है

Updated on 21 December, 2013, 11:19
अगर आपको परमात्मा की कृपा मिलती है तो आपके व्यक्तित्व का रूपांतरण हो सकता है। प्रेम आप पिता से करें, मां से करें या परमात्मा से करें, प्रेम तो प्रेम है। आप ठंडा पानी पीकर अपना मन शांत करें या मरुभूमि में फेंक दें, इससे पानी को कोई अंतर नहीं... आगे पढ़े

मोहे संविधान में मान देऔ, मैं भाषान में लाड़िली ब्रज

Updated on 21 December, 2013, 11:16
मथुरा। मैया मोरी मैं नहिं माखन खायौ। भोर भये गइयन के पांछे, मधुवन मोहि पठायौ।। जुबां पर ये बोल आते ही ब्रज रस की मिठास दिमाग पर छाने लगती है। सूरदास और रसखान के ऐसे कालजयी साहित्य ने ही तो ब्रज भाषा को साहित्य जगत के महाशिखर पर आरूढ़ किया।... आगे पढ़े

खुशियां मनाओ, प्रभु यीशु आएंगे

Updated on 21 December, 2013, 11:14
मथुरा। नाचो-गाओ, खुशियां मनाओ। समाज को अमन चैन का संदेश देने वाले अमन के राजकुमार के रूप में प्रसिद्ध प्रभु यीशु मसीह का जन्म दिन करीब है। यह संदेश देने के लिए क्रिश्चियन समाज में गुरूवार से केरोल गीत गाने का सिलसिला शुरू हो गया। क्रिसमस ट्री और स्टार आदि... आगे पढ़े

राशिफल : कैसा रहेगा आपका आज का दिन (21 दिसंबर, 2013)

Updated on 21 December, 2013, 9:41
मेष (Aries) : मन की एकाग्रता कम रहने के कारण मन से आप दुखी रहेंगे ऐसा गणेशजी कहते हैं। शारीरिक रूप से व्यग्रता का अनुभव होगा। धन का निवेश करने वालों के लिए संभलकर चलना आवश्यक है। यह निवेश लेकिन लाभ कम ही देगा ऐसा गणेशजी कहते हैं। आवश्यक दस्तावेजों... आगे पढ़े

क्या ज्ञानी होते हुए भी अज्ञानी बने रहने का फायदा जानते हैं?

Updated on 20 December, 2013, 15:36
राजगृह के राजकीय कोषाध्यक्ष की पुत्री भद्रा बचपन से ही प्रतिभाशाली थी। उसने माता-पिता की इच्छा के विरुद्ध एक युवक से विवाह कर लिया। विवाह के बाद उसे पता चला कि वह अपराधी किस्म का है। एक दिन उस युवक ने भद्रा की हत्या का प्रयास किया, पर भद्रा ने अपनी... आगे पढ़े

सिर पर टोपी और पगड़ी बांधने के इतने फायदे होते हैं नहीं जानते होंगे

Updated on 20 December, 2013, 10:22
आपने देखा होगा कि शुरुआती दिनों में गायक हिमेश रेशमियां हमेशा टोपी पहने रहते थे। टोपी इनकी पहचान बन चुकी थी और जब तक इनके सिर पर टोपी रही हिमेश सफलता की बुलंदियों पर चढते रहे। उन दिनों हिमेशा चर्चा में रहते थे लेकिन जैसे ही टोपी उतारी हिमेशा भी चर्चाओं... आगे पढ़े

क्या आप भी बात-चीत करते हुए ऐसी ही गलती करते हैं

Updated on 20 December, 2013, 9:59
धर्मशास्त्रों में वाणी संयम पर बहुत बल दिया गया है। मनुस्मृति में कहा गया है, पारुष्यमनृतं चैव पैशुन्यं चापि सर्वशः। असंबद्ध प्रलापश्च वांग्मयं स्याच्चतुर्विधम्। अर्थात, वाणी में कठोरता लाना, झूठ बोलना, परनिंदा करना और व्यर्थ बातें बनाना- ये वाणी के चार दोष हैं। इन दोषों से बचने वाला व्यक्ति हमेशा... आगे पढ़े

भोजन करने से पहले भगवान को भोग लगाने का क्यों है नियम?

Updated on 20 December, 2013, 9:56
अपने देखा होगा कि कई लोग भोजन करने से पहले भगवान का ध्यान करते हैं। कुछ लोग भगवान के नाम पर भोजन का कुछ अंश थाली से बाहर रखकर नैवैद्य रुप में अर्पित करते हैं। इसके पीछे धार्मिक कारण के साथ ही वैज्ञानिक कारण भी है। सबसे पहले धार्मिक कारणों की... आगे पढ़े

राशिफल : कैसा रहेगा आपका आज का दिन (20 दिसंबर, 2013)

Updated on 20 December, 2013, 8:45
मेष (Aries): आज आप बहुत भावनाशील रहेंगे, इसलिए किसी के बोलने से आपकी भावनाओं को ठेस पहुंचेगी। माताजी के स्वास्थ्य की चिंता सताएगी। स्थाई संपत्ति के मामले में कोई निर्णय लेना योग्य नहीं है। मानसिक व्यग्रता और शारीरिक अस्वस्थता रहेगी। विद्यार्थियों के लिए समय मध्यम कहा जा सकता है। आपका... आगे पढ़े

असफलता भी दे जाती है खुशी

Updated on 19 December, 2013, 22:18
कृष्ण भगवान गीता में कहते हैं , ‘देवी ध्येषा गुणमयी मम माया दुरंत्यया’ अर्थात यह जो माया है, देवी गुण युक्त है. यह दिव्य है, दुरत्यं है. इससे आसानी से पार नहीं हो सकते, बिना मेरी कृपा के. मेरी ही कृपा से मेरी माया से तुम बाहर आ सकते हो. तुम... आगे पढ़े

ज्ञान वही है जो हमें सत्य की ओर ले जाए

Updated on 19 December, 2013, 15:16
ज्ञान वही है जो हमें सत्य की ओर ले जाए और सत्य वही है जो धर्म को स्थापित करे। ज्ञान तत्व प्रकाश जैसा होता है, जिससे वस्तुत: मनुष्य का जीवन रूपांतरित होता है। जीवन अर्थपूर्ण और यथार्थ के धरातल तक पहुंचता है। वहीं दूसरी तरफ अज्ञान से मनुष्य का समस्त... आगे पढ़े

बांके बिहारी की हिना-केसर से मालिश

Updated on 19 December, 2013, 15:14
वृंदावन। ठाकुर बांके बिहारी को सर्दी न लग जाए। ऐसे में हर रोज इत्र मिलाकर हिना और केसर की मालिश हो रही है। नमी वाले फूलों को दूर रखा जाता है। बांके बिहारी ने गले में माला पहनना भी बंद कर दिया है। सर्दी का मौसम आते ही ठा. बांकेबिहारी को... आगे पढ़े

आत्मा की चेतना को जगाने वाला ध्यान

Updated on 19 December, 2013, 13:02
उलझनों या आवेशों पर नियंत्रण जब तक नहीं होता, तब तक शक्ति का विकास कठिन है। इसलिए आज सबसे बड़ी मांग है कि प्रत्येक व्यक्ति ध्यान में प्रवेश करें। शक्ति के लिए जरूरी है कि शरीर और मन साथ में जुड़े रहें। शरीर एक काम करता है, तो मन दूसरा... आगे पढ़े

भगवान को ऐसे देखने से होता है कष्ट, रहती है आर्थिक परेशानी

Updated on 19 December, 2013, 12:55
भगवान की कृपा पाने के लिए आप घर में गणेश लक्ष्मी और दूसरे देवताओं की मूर्ति जरुर रखते होंगे। लेकिन भगवान की मूर्ति घर में रखने के कुछ नियम हैं। शास्त्रों के अनुसार भगवान की मूर्ति घर में इस प्रकार से रखनी चाहिए ताकि इनके पीछे का भाग यानी पीठ दिखाई... आगे पढ़े

हनुमत प्रभु को सुनाई श्रीरामकथा सुखदायी

Updated on 19 December, 2013, 10:22
वाराणसी। रामविवाह का उत्सव और संकट मोचन दरबार में गूंजी बधाई। कलाकारों ने भजनों से प्रभु के विवाह की झांकी सजाई। हनुमत प्रभु को सुखदायी रामकथा भी सुनायी। संकट मोचन मंदिर में मंगलवार को भजन संध्या के दूसरे दिन ख्यात गायक रवींद्र जैन ने मानस की चौपाइयों को स्वर दिए। विभोर... आगे पढ़े

बांके बिहारी, शरण तिहारी

Updated on 19 December, 2013, 10:20
मथुरा। मंगलवार को अगन पूर्णिमा के मौके पर वृंदावन के ठा. बांकेबिहारी मंदिर में दर्शन को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। खचाखच भरे मंदिर परिसर में ठाकुरजी की जय-जयकार से वातावरण भक्ति की महक से सुगंधित रहा। नववर्ष के स्वागत के लिए भक्तों ने गिरीराज प्रभू को समर्पित करने के लिए... आगे पढ़े

बलदाऊ महाराज को धारण कराए शीतकालीन वस्त्र

Updated on 19 December, 2013, 10:16
बलदेव। सौर संवार उढ़ाय, प्यारी नेक सौर संवार, सिर सौ खस, पावन तर आई, शीत सतावे आए के पद के साथ रात्रि में बलदेव महाराज और रेवती मैया को शीत कालीन वस्त्र धारण कराए गए तो बलदेव स्थित बलदाऊ मंदिर दाऊजी महाराज और रेवती मैया के जयकारों से गुंजायमान हो... आगे पढ़े

राशिफल : कैसा रहेगा आपका आज का दिन (19 दिसंबर, 2013)

Updated on 19 December, 2013, 9:16
मेष (Aries) : आज आपका दिन शुभ फलदायी होगा। विचारों में अति शीघ्र परिवर्तन आने की वजह से महत्वपूर्ण कार्यों में अंतिम निर्णय लेना सरल नहीं होगा, जिस कारण गणेशजी कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय आज न लेने की सूचना देते हैं। कार्य के संदर्भ या किसी विशिष्ट कारण से यात्रा... आगे पढ़े

यहां पर आज भी मौजूद है भगवान श्री कृष्ण की थाली

Updated on 18 December, 2013, 16:18
भगवान श्री कृष्ण अपनी लीला दिखाकर वापस गोलोक चले गए लेकिन उनकी लीला की निशानी आज भी श्री कृष्ण के होने का एहसास दिलाते हैं। ऐसी ही एक निशानी है श्री कृष्ण की थाली। अगर आप भी श्री कृष्ण की थाली देखना चाहते हैं तो भगवान की जन्मस्थली मथुरा से लगभग... आगे पढ़े

वासनाओं और आकर्षणों में भटककर जब मनुष्य थक जाता है

Updated on 18 December, 2013, 16:16
एक दिन महर्षि सनतकुमार और देवर्षि नारद सत्संग कर रहे थे। सनतकुमार ने प्रश्न किया, देवर्षि, आपने किन-किन शास्त्रों और विद्याओं का अध्ययन किया है? नारद जी ने उन्हें बताया कि उन्होंने वेदों, पुराणों, वाकोवाक्य (तर्कशास्त्र), देवविद्या, ब्रह्मविद्या, नक्षत्र विद्या आदि का अध्ययन किया है, पर यह ज्ञान पुस्तकीय है।... आगे पढ़े

सुर लय ताल से बखानी वेद व्यास की कहानी

Updated on 18 December, 2013, 16:07
वाराणसी। अनगिन मांगलिक सौगातों और तमाम झंझावातों का भी साक्षी रहे गंगा तट ने मंगलवार को द्वैपायन के वेद व्यास बनने की कहानी सुनी। सुर लय ताल में महर्षि के ज्ञान और महिमा का बखान। इससे गंगा भी अपने लाल की विद्वता पर निहाल हो गई। मौका अखिल भारतीय व्यास... आगे पढ़े

व्यवहार की शालीनता

Updated on 18 December, 2013, 11:14
सद्व्यवहार उस पुष्प के समान है जो धवल और दृढ़ चरित्र रूपी वृक्ष पर खिलता है। व्यवहार की शालीनता न केवल अन्य व्यक्तियों को प्रसन्न करती है, बल्कि शालीन व्यक्ति के मन-मस्तिष्क को भी आनंदित करती है। प्रख्यात विचारक और मनीषी श्रीअरविंद का कहना था कि जीवन के समस्त बाहरी क्रियाकलाप... आगे पढ़े

फिर गरमाएगी अखाड़ा परिषद की राजनीति

Updated on 18 December, 2013, 11:11
हरिद्वार। लंबे समय से मंद पड़ी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की सियासत फिर गरमाने वाली है। इसका केंद्र भी हरिद्वार होगा। महंत ज्ञानदास ने परिषद अध्यक्ष के लिए महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव महंत रवींद्रपुरी का नाम आगे बढ़ाया है। जल्द वे हरिद्वार आकर सभी तेरह अखाड़ा प्रमुखों से वार्ता करेंगे। हरिद्वार... आगे पढ़े

चुनिंदा तीर्थस्थलों में शामिल होगी अयोध्या

Updated on 18 December, 2013, 11:09
अयोध्या। सुविधाओं के लिहाज से अयोध्या देश के चुनिंदा तीर्थस्थलों में शामिल होगी। प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इसके विकास के लिए संकल्पित हैं। त्वरित आर्थिक विकास योजना के अन्तर्गत उन्होंने नगर के मार्गो के विकास के लिए दस करोड़ की सहायता अपने विवेकाधीन कोष से दी है। चौदहकोसी व पंचकोसी... आगे पढ़े

पुरुषोत्तम महाराज अब गोपाल पीठाधीश्वर

Updated on 18 December, 2013, 11:06
मथुरा। गोपाल पीठ पर डॉ. पुरुषोत्तम महाराज को आचार्यो द्वारा पट्टाभिषेक व पूजन कर गद्दी पर आसीन किया गया। विट्ठलेश महाराज के शरीर त्याग के बाद रिक्त हुई गद्दी पर सोमवार को विधि-विधान से आचार्य डॉ. पुरुषोत्तम महाराज का पट्टाभिषेक गुरु शरणानंद महाराज एवं चीनू बाबा समेत अन्य आचार्यगणों ने... आगे पढ़े

आश्रम में बह रही भक्ति की अविरल धारा

Updated on 18 December, 2013, 11:02
मोहनपुर। विश्व योग गुरु ब्रह्मलीन स्वामी सत्यानंद सरस्वती की तपोभूमि रिखिया पीठ में आयोजित पांच दिवसीय गुरु पूर्णिमा उत्सव के चौथे दिन सोमवार को दिनभर आश्रम में उत्सवी माहौल बना रहा। भक्ति की अविरल धारा बहती रही। विदेशी भक्तों द्वारा हिंदी व अंग्रेजी के कीर्तन से वातावरण गुंजायमान होता रहा। सुबह... आगे पढ़े

गढ़वाल के विंध्याचल क्षेत्र में मिली सोम बूटी

Updated on 18 December, 2013, 10:59
हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री और आयुर्वेदाचार्य आचार्य बालकृष्ण ने रामायण काल की संजीवनी के बाद अब देवताओं, ऋषि- मुनियों की पसंदीदा रही सोमरस वाली सोम नामक बूटी को खोज निकालने का दावा किया है। सोमवार देर शाम पतंजलि से जारी बयान में दावा किया गया है कि आचार्य बालकृष्ण और... आगे पढ़े

राशिफल : कैसा रहेगा आपका आज का दिन (18 दिसंबर, 2013)

Updated on 18 December, 2013, 9:33
मेष (Aries) : गणेशजी की दृष्टि से आज आपका दिन मिश्रफलदायी है। आपको आज नए कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी एवं नए कार्य प्रारंभ कर पाएंगे। आज आपके मन में परिवर्तन शीघ्र आएंगे, जिससे आपका मन कुछ दुविधायुक्त रहेगा। आज नौकरी एवं व्यवसाय में आपको स्पर्द्धात्मक व्यवहार का सामना करना... आगे पढ़े

महाज्ञानी बनना है तो इस रहस्य को समझ लें

Updated on 17 December, 2013, 12:58
संसार में किसी से भी कह दें कि तुम अज्ञानी हो तो वह आपको मारने-पीटने के लिए दौड़ेगा। कारण यह है कि कोई भी अपने आपको अज्ञानी मानने को तैयार नहीं होता। जबकि सच तो यह है कि बड़ी-बड़ी उपाधियां और डिग्रियां लेकर ऊंचे पदों पर काम करने वाले व्यक्ति... आगे पढ़े

आत्मा को पता होता है उसे कौन सा शरीर मिलने वाला है

Updated on 17 December, 2013, 12:56
स्वामी शिवानंद सरस्वती जीवात्मा प्राण, मन तथा इंद्रियों के साथ मृत्यु के समय अपने पूर्व शरीर को छोड़ देती है और एक नया शरीर धारण करती है। अविद्या, शुभ-अशुभ कर्म तथा पूर्वजन्मों के संस्कारों को भी वह अपने साथ ही ले जाती है। जिस प्रकार कीड़ा दूसरी घास पर अपने पांवों... आगे पढ़े

India City news Exclusive