Tuesday, 20 November 2018, 7:37 PM

धर्म कर्म

मौन डुबकी को उमड़ा जनसमुद्र

Updated on 31 January, 2014, 20:13
वाराणसी। गंगा तट पर गुरुवार को मौन का डंका तो श्रद्धा की हिलोरें थीं। कोहरे से ढकी घाट की सीढि़यां और इस पर दो तीन पीढि़यां पुण्य बेला के इंतजार में रात से ही जमी थीं। मौन साधे, परंपराओं की पोटली हृदय में बांधे। चहुंओर धुंधलका लेकिन आस्था की उजास... आगे पढ़े

प्रयाग में दान की परंपरा आज भी यथावत

Updated on 31 January, 2014, 20:12
इलाहाबाद। प्रयाग दान क्षेत्र है। सम्राट हर्षवर्धन इसी दान क्षेत्र में आकर सबकुछ न्यौछावर कर जाते थे। वक्त जरूर बदला है पर प्रयाग में दान करने की परंपरा आज भी कायम है। देश विदेश से श्रद्धालु यहां दान करने आते हैं। माह भर मेला में अन्न क्षेत्र चलाते हैं, वस्त्र,... आगे पढ़े

विधा की देवी सरस्वती

Updated on 31 January, 2014, 13:37
भगवती सरस्वती विशुद्ध ज्ञान स्वरूपा हैं। उन्हें सामवेदात्मक शुद्ध सत्व-स्वरूप आदित्य के धर्म की प्रवर्तिका माना जाता है। मां सरस्वती प्रत्येक जीव में शुद्ध चेतना के रूप में प्रतिष्ठित रहती हैं। चूंकि हमारे भीतर चेतना रूप में सरस्वती विराजमान हैं, इसलिए हमें अपनी चेतना को श्रेष्ठ कायरें में लगाकर उसे... आगे पढ़े

ऋतु के स्वागत का पर्व बसंत पंचमी

Updated on 31 January, 2014, 13:35
वसंत ऋतु के आगमन के साथ ही चारों ओर उल्लासमय वातावरण छा जाता है और इसी के स्वागत में वसंतोत्सव मनाने की परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है। प्रचलित पौराणिक कथा भगवती सरस्वती समस्त ज्ञान-विज्ञान, कला और संगीत की अधिष्ठात्री शक्ति हैं। कुछ धर्मग्रंथों में वसंत पंचमी को इनका आविर्भाव... आगे पढ़े

महारानी नहीं पूर्व जन्म में कुछ और ही थी महारानी द्रौपदी

Updated on 30 January, 2014, 21:20
किसी अमीर आदमी को देखकर यह नहीं कह सकते कि यह अगले जन्म में भी अमीर होगा। इस तरह अगर कोई आज गरीब है तो अगले जन्म में भी गरीब ही पैदा होगा। इसलिए न गरीबी से उदास होना चाहिए और न अमीरी का अहंकार करना चाहिए। भविष्य पुराण में पाण्डवों... आगे पढ़े

ज‌िस द‌िन हुआ था धरती का पहला मनुष्‍य पैदा

Updated on 30 January, 2014, 21:17
पुराणों में धरती का सबसे पहला मनुष्य मनु को बताया गया है। इनका जन्म माघ मास की कृष्ण पक्ष की अमवस्या को हुआ था। माना जाता है कि मनाली ही वह स्थान है जहां से मनु ने मनुष्य की वंश परंपरा को आगे बढ़ाया। इसलिए मनाली में इनका जन्मदिवस धूम-धाम... आगे पढ़े

अचानक नहीं आई, गांधी जी को पहले से पता था आने वाली है मौत

Updated on 30 January, 2014, 21:16
दिल्ली : कहते हैं मृत्यु बताकर नहीं आती। यह दबे पांव आकर व्यक्ति को अपने साथ लेकर चली जाती है। लेकिन कुछ दिव्य आत्मा ऐसी होती है जो मृत्यु की आहट पहचान लेती है और समझ जाते हैं कि उनकी मौत अब करीब आ चुकी है। ऐसे ही महान आत्मा... आगे पढ़े

हर पग संगम की ओर

Updated on 30 January, 2014, 21:13
इलाहाबाद। मौनी अमावस्या का पर्व और तीर्थराज प्रयाग में उमड़ा भक्तों का जनसैलाब। मौनव्रत रखकर श्रद्धालुओं ने गंगा-यमुना व अदृश्य सलिला सरस्वती की त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगाई। बादलों व सूर्यदेव की लुकाछिपी के बीच श्रद्धालुओं का कारवां संगम की ओर बढ़ता रहा। दिन में 11 बजे तक 40 लाख... आगे पढ़े

सिर पे गठरी गरम-गरम उपरी, छनन-छनन पूरी

Updated on 30 January, 2014, 21:11
इलाहाबाद। विश्व का सबसे बड़ा मेला हो और वहां से भौतिकता छू मंतर हो, कैसा लगेगा। कुछ ऐसा ही अद्भुत नजारा त्रिवेणी तट का था। भरी-पूरी गठरियों से भरा रेला, आपस में धक्कामुक्की करता कब संगम पर पहुंच जाता, पता ही नहीं चलता। पग-पग पर रेलों के बीच टक्कर, मगर... आगे पढ़े

संगम तीरे लोक की गंगा में डूबा तन-मन

Updated on 30 January, 2014, 21:10
इलाहाबाद। आस्था के सैलाब में डूबे तंबुओं की नगरी में कथा, रासलीला व प्रवचन की धूम मची है। धार्मिक शिविरों में धर्म की अलख जगाते साधु-सन्यासियों के दर्शन के लिए भी भक्तों का तांता लगा है। सेक्टर तीन स्थित कबीर पारख संस्थान के शिविर में बुधवार को प्रवचन का दौर... आगे पढ़े

मौनी अमावस्या: लाखों ने लगाई डुबकी

Updated on 30 January, 2014, 21:07
इलाहाबाद। मौनी अमावस्या पर्व पर स्नान करने पहुंचे श्रद्धालुओं ने शुभ मुहूर्त का इंतजार नहीं किया और स्नान शुरू कर दिया। मेला क्षेत्र के दर्जन भर स्नान घाटों पर देर रात तक स्नान चलता रहा। ठंडे पानी से दूर खड़े लोगों ने लोगों को नहाते देख स्नान करने की ठान... आगे पढ़े

हर कारवां की मंजिल संगम

Updated on 29 January, 2014, 23:39
इलाहाबाद। अलोपीबाग फ्लाईओवर के पास खड़ी हैं कटनी की सुशीला, उनके साथ गांव के ही दर्जन भर लोग भी खड़े हैं। बस की लंबी यात्रा के बाद अपनी कमर को सीधी करके संगम जाने को तैयार यह स्नानार्थी गंगा मइया का जयकारा लगाकर पैदल ही काली सड़क पर बढ़ चलते... आगे पढ़े

2054 में बनेगा ऐसा दुर्लभ संयोग

Updated on 29 January, 2014, 23:38
इलाहाबाद। मौनी अमावस्या पर अंतरिक्ष में तमाम ग्रह-नक्षत्रों का 'संगम' होगा। अंतरिक्ष में ग्रह-नक्षत्रों का यह 'संगम', तीर्थराज प्रयाग के संगम में मौनी अमावस्या पर डुबकी लगाने वाले श्रद्धालुओं के पुण्य का कारक बनेगा। वर्षो बाद ऐसा दुर्लभ संयोग बना है जब न्याय एवं धर्म के प्रतीक शनिदेव स्वयं भक्तों... आगे पढ़े

अनंत आकाश तक संगम का संदेश

Updated on 29 January, 2014, 23:36
इलाहाबाद। माघ मेले में कल्पवास करने पहुंचे साधु संतों के शिविरों में यज्ञ शालाओं में अग्नि प्रज्वलित हो चुकी है। यज्ञ कुंडों से निकलता धुआं संगम में आयोजित हो रहे माघ मेले का संदेश अनंत आकाश तक प्रसारित कर रहे हैं। सनातन धर्म के प्रचार प्रसार और वेद वेदांगों के अनुरूप... आगे पढ़े

काशी के गंगा घाटों पर अब बिजली नहीं कटेगी

Updated on 29 January, 2014, 13:31
वाराणसी। दुनिया में विख्यात काशी के गंगा घाटों पर अब बिजली नहीं कटेगी। आपात कटौती के दौरान पूरा शहर भले ही अंधेरे में हो लेकिन सभी घाट जगमगाते रहेंगे। यह बनारस में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पावर कारपोरेशन की पहल पर होगा। प्रबंध निदेशक एपी मिश्र ने पिछले... आगे पढ़े

पहली बार मौका मिला तो खरी-खरी बोल गई गंगा

Updated on 29 January, 2014, 13:29
वाराणसी। भोर में गंगा आरती से अभिनंदन गणतंत्र का। गणतंत्र दिवस परेड में उत्तर प्रदेश की झांकी सुबह-ए-बनारस। सर्द हवाओं से अकुलाई और वासंती खुमार से अलसाई गणतंत्र दिवस की भोर दशाश्वमेध घाट पर। सुबह के पांच बजने को हैं। घाट के ठीक ऊपर पुलिस पिकेट के अलाव पर हाथ... आगे पढ़े

मौनी अमावस्या पर 80 लाख लगाएंगे डुबकी

Updated on 28 January, 2014, 13:29
इलाहाबाद। पांच प्रमुख स्नान पर्वो में मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर 80 लाख स्नानार्थी संगम तट पर डुबकी लगाएंगे। स्थानीय प्रशासन और प्रदेश सरकार के लिए यह स्नान पर्व चुनौती का विषय है। मेला प्रशासन का दावा है कि दर्जन भर घाटों पर स्नान कराने की पूरी तैयारी हो चुकी... आगे पढ़े

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने गिनाई चुनौतियां

Updated on 28 January, 2014, 13:23
इलाहाबाद। इसाईयों को धर्म प्रचार के लिए खुली छूट है। कुरान शरीफ पढ़ाते हैं तो सरकार सहायता देती है पर सनातन धर्म से जुड़ी संस्थाओं के साथ ऐसा नहीं है। अगर हम धर्म के प्रचार के लिए हम कुछ करना चाहे तो हमें अनुमति लेनी पड़ती है। गौ हत्या हो... आगे पढ़े

संगम क्षेत्र में शुरू हुआ चलो मन गंगा यमुना तीर

Updated on 28 January, 2014, 13:21
इलाहाबाद। संगम की रेती पर उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र की ओर से आयोजित होने वाले कार्यक्रम 'चलो मन गंगा यमुना तीर' की शुरूआत सोमवार से हुई। इस मौके पर शोभना नारायण ने कथक, रंजना गौहर ने ओडिसी और पद्मभूषण सरोजा वैद्यनाथन ने भरतनाट्यम प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के शुभारंभ के... आगे पढ़े

व्रत, साधना, तपस्या के साथ चौपाल भी अपनी रौ में

Updated on 27 January, 2014, 21:58
इलाहाबाद। माघ मेले में कल्पवासियों का व्रत अपने रफ्तार पर है। व्रत, साधना और तपस्या के साथ चौपाल भी अपनी रौ में है। ऐसी ही एक चौपाल, जहां एकसाथ रिटायर्ड अध्यापकों का कल्पवास चल रहा है और उनके बीच रिश्तों की मिसरी घुल रही है। माघ मेला क्षेत्र का सेक्टर पांच।... आगे पढ़े

धर्म की नगरी में ज्ञान और वैराग्य का संगम

Updated on 27 January, 2014, 21:57
इलाहाबाद। अरैल मेला क्षेत्र में ज्ञान और वैराग्य का संगम हो रहा है। विद्वानों को सुनने के लिए जहां जिज्ञासु खिंचे चले आ रहे हैं वहीं पूरे दिन चलने वाले भजन-कीर्तन में आस्था पूरी तरह रौ में दिखती है। काशी के डा. पुंडरीक शास्त्री ने श्रीमद्भागवत पर अपना व्याख्यान दिया। उन्होंने... आगे पढ़े

नहीं जानते होंगे, जल में क्यों विसर्जित करते हैं देवी देवताओं की मूर्तियों को?

Updated on 27 January, 2014, 12:18
बसंत पंचमी यानी सरस्वती पूजा आने वाली है। मूर्तिकार सुंदर-सुंदर देवी प्रतिमा बनाने में लगे हैं। लोग इन मूर्तियों को बड़े ही आदर से घर लाएंगे और इनकी पूजा करेंगे लेकिन अगले ही दिन किसी नदी या तालाब में ले जाकर विसर्जित कर देंगे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि... आगे पढ़े

मानव कल्याण ही धर्म का उद्देश्य

Updated on 25 January, 2014, 20:31
इलाहाबाद। हिंदू समाज उत्सवधर्मी समाज है। हमारे पंचांग व्रत त्यौहारों से भरे हैं। यहां हर पर्व खुद को मानव कल्याण के निमित्त अर्पित करने को प्रेरित करता है। मानव का कल्याण ही धर्म का प्रमुख उद्देश्य है। त्यौहार मन के कलुषित विचारों के निकालने का उत्सव हैं। यह मानना है मानसरोवर... आगे पढ़े

विश्वनाथ दरबार में चढ़ावा घोटाला!

Updated on 25 January, 2014, 20:30
वाराणसी। काशी विश्वनाथ मंदिर में चढ़ावे से होने वाली आय पिछले वर्षो की अपेक्षा चालू वित्तीय वर्ष में घटने जा रही है। इसकी संभावना से प्रशासन सकते में है। मंडलायुक्त चंचल तिवारी ने गड़बड़ी की आशंका जताई और चढ़ावे से होने वाली आय पर नजर रखने का अधिकारियों को निर्देश... आगे पढ़े

तंबुओं की अस्थायी नगरी में रोजाना हजारों को भोजन

Updated on 25 January, 2014, 20:29
इलाहाबाद। महंगाई के इस दौर में जहां दो जून की रोटी का संघर्ष जीवन को दुरूह बना रहा है वहीं माघ मेले में चल रहे अन्न क्षेत्र हजारों के लिए वरदान बन गए हैं। यह दान-परंपरा निर्वहन का अद्भूत मिसाल है। यहां संतों की दानवीरता साधु महात्माओं के साथ ही... आगे पढ़े

आक्रोशित कल्पवासियों का पलायन

Updated on 25 January, 2014, 20:28
इलाहाबाद। माघ मेले में जहां एक तरफ सुविधाओं को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की मशक्कत जारी है। वहीं सुविधाओं का अभाव डोल रहे कल्पवासियों ने गुरुवार को मेला क्षेत्र से पलायन कर दिया। सेक्टर तीन के बगल में काली मार्ग के पास बृज अकादमी वृंदावन का शिविर लगा था। उसमें दस दिन... आगे पढ़े

पुरुष यूं ही नहीं पहनते जनेऊ, कारण जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे

Updated on 25 January, 2014, 13:53
आपने देखा होगा कि बहुत से लोग बाएं कांधे से दाएं बाजू की ओर एक कच्चा धागा लपेटे रहते हैं। इस धागे को जनेऊ कहते हैं। जनेऊ का धार्मिक दृष्टि से बड़ा महत्व है। जनेऊ का निर्माण दो तूड़ियों से किया जाता है जिसमें तीन -तीन लपेट होते हैं। तीनों लपेट... आगे पढ़े

तब आंख मिचौली खेलते-खेलते क्यों बेचैन हो उठी राधा?

Updated on 25 January, 2014, 13:52
राधा कृष्ण की प्रेम कहानी और उनकी लीला युगों युगों से भक्तों को आनंदित करती आ रही है। राधा कृष्ण की ऐसी ही एक लीला गोवर्धन पर्वत के पास चल रही थी। श्रीराधा रानी भगवान श्रीकृष्ण और सखियों के साथ आंख मिचौली खेल रही थी। अचानक उनकी नज़र अपने पैरों पर... आगे पढ़े

कान्हा को पंसद तुलसी

Updated on 24 January, 2014, 22:09
वृंदावन। दो दिन तक हुई लगातार वर्षा से पंचकोसीय परिक्रमा मार्ग में लगे पेड़-पौधों को संजीवनी मिल गई। वृंदावन के प्राचीन स्वरूप को लौटाने के लिए हरियालीयुक्त वातावरण की पहल सरकारी और गैर सरकारी स्तर पर की जा रही है। सुनरख वनीकरण योजना में हजारों पौधों का रोपण किया गया। वन... आगे पढ़े

मौनी अमावस्या की तैयारी में जुटा मेला प्रशासन

Updated on 24 January, 2014, 22:09
इलाहाबाद। माघ मेले के प्रमुख स्नान पर्व मौनी अमावस्या के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। मेला प्रशासन के लिए पिछले सप्ताह हुई बारिश के कारण हुई अव्यवस्था को ठीक करने की चुनौती है। व्यवस्था बनाने में जुटे अधिकारी इस चुनौती में ही मौनी अमावस्या की तैयारी को भी समाहित... आगे पढ़े

India City news Exclusive