Wednesday, 18 July 2018, 11:42 AM

धर्म कर्म

राशि के मुताबिक धनतेरस पर क्‍या खरीदना रहेगा बेहतर...

Updated on 1 November, 2013, 7:43
धनतेरस, धनत्रयोदशी और धनवंतरी जयंती भगवान हनुमान के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है. इसके अलावा दीर्घायु के लिए भी इस दिन यमराज के पूजन का विधान माना जाता है. इसी दिन से पंचपर्व की शुरुआत होती है. इस बार धनतेरस शुक्रवार के दिन है. हस्त नक्षत्र है, साथ ही... आगे पढ़े

दीपावली की रात देवी लक्ष्मी की पूजा क्यों?

Updated on 31 October, 2013, 12:01
भारतीय कालगणना के अनुसार 14 मनुओं का समय बीतने और प्रलय होने के पश्चात् पुनर्निर्माण तथा नई सृष्टि का आरंभ दीपावली के दिन ही हुआ माना जाता है। नवारंभ के कारण कार्तिक अमावस्या को कालरात्रि भी कहा जाने लगा है। इस दिन सूर्य अपनी सातवीं अर्थात् तुला राशि में प्रवेश करता... आगे पढ़े

इसलिए मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार

Updated on 31 October, 2013, 11:59
प्रत्येक वर्ष कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी तिथि के दिन धन तेरस का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन से ही पंच दिवसीय त्योहार शुरू होता है जो भाई दूज के साथ समाप्त होता है। धनतेरस की पहली कथा शास्त्रों के अनुसार धनतेरस के दिन ही भगवान धनवंतरी हाथों में स्वर्ण कलश लेकर सागर... आगे पढ़े

52 गुरुवार का तप करें, नहीं रहेगी बेरोजगारी

Updated on 30 October, 2013, 8:29
नई दिल्‍ली 52 गुरुवार का तप बेरोजगारी खत्म करता है. ये सुनकर आपको हैरानी हो सकती है, लेकिन गुजरात के दत्त मंदिर में भक्तों को ऐसा ही चमत्कार देखने को मिलता है. यहां त्रिदेव एक साथ भक्तों को आशीर्वाद देते हैं. ये मंदिर त्रिदेवों के अवतार भगवान दत्तात्रेय का है. मान्यता... आगे पढ़े

बड़ी महंगाई है, भगवान को अर्पित करें क्‍या-क्‍या...

Updated on 28 October, 2013, 7:41
नई दिल्‍ली आप चाहते तो हैं कि भगवान की पूजा-पाठ करने के दौरान उन्‍हें हर दिन बेहद सुंदर, ताजा और एकदम सुगंधित फूल अर्पित किए जाएं. परंतु इन्‍हें जुटाने में समस्‍याएं कई हैं. फूल खरीदने जाएं, तो पता चलेगा कि ये भी महंगाई की चोट खाए बैठे हैं. इस मंडी से उस... आगे पढ़े

करवाचौथ में छलनी और करवा का महत्व

Updated on 22 October, 2013, 8:33
करवाचौथ के व्रत में छलनी से चांद को देखकर व्रत खोलने की परंपरा है। कुछ स्थानों पर इसे चलनी भी कहा जाता है। अमीर हो या गरीब सभी वर्ग की महिलाएं इस अवसर पर नई छलनी खरीदती हैं। व्रत की शाम छलनी की पूजा करके चांद को देखते हुए प्रार्थना... आगे पढ़े

इस बार विशेष फलदायी होगा करवाचौथ

Updated on 21 October, 2013, 9:28
इस बार करवाचौथ का व्रत और पूजन बहुत विशेष है। ज्योतिषों के मुताबिक इस बार 70 साल बाद करवाचौथ पर ऐसा योग बन रहा है। रोहिणी नक्षत्र और मंगल एक साथ इस बार रोहिणी नक्षत्र और मंगल का योग एक साथ पड़ रहा है। ज्योतिष के मुताबिक यह योग करवाचौथ को और... आगे पढ़े

संभल जाएं, कहीं शनि बिगाड़ न दे आपका हाल

Updated on 19 October, 2013, 20:56
नई दिल्‍ली शनि एक बार फिर करवट ले रहा है. एक बार फिर शनि की चाल बिगड़ने वाली है. अगर शनि का उपाय नहीं किया तो वो हाल बेहाल कर सकता है. पूरे 30 दिनों तक शनि कोहराम मचाने वाला है और इस दौरान बेहद सावधान रहने की जरूरत है. 21 अक्टूबर... आगे पढ़े

बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 18 नवंबर से बंद होंगे

Updated on 15 October, 2013, 16:11
देहरादून/लखनऊ बद्रीनाथ धाम के कपाट आगामी 18 नवंबर को छह महीनों के लिए बंद कर दिए जाएंगे। मंदिर के अधिकारियों ने मंगलवार को यह घोषणा की। दशहरा पर्व के दौरान ही बद्रीनाथ धाम की प्रबंधन समिति ने पंचांग के अनुसार मुहूर्त तय कर मंदिर के कपाट बंद करने का निश्चय... आगे पढ़े

कर लीजिए मनोकामनाओं की कंजक पूजा

Updated on 11 October, 2013, 18:10
मां की मोहनी मूरत, उनकी शक्ति, उनकी भक्ति में डूबे रहने के बाद पूजा का महाफल पाने का अब समय आ गया है. इस बार मां के महायज्ञ में आखिरी आहुति डाल, मां के सामने हृदय खोलकर रख दीजिएगा. शनिवार को अपनी इच्छाओं, अपने सपनों को मां से बांट लीजिएगा.... आगे पढ़े

...यहां मिलता है मनचाहे जीवनसाथी का वरदान

Updated on 11 October, 2013, 11:54
नई दिल्‍ली नवरात्र में हर ओर जय माता दी की गूंज सुनायी दे रही है, पूरा देश माता की भक्ति में डूबा हुआ है. मध्य प्रदेश के सीहोर सलकनपुर में विराजी मां विजयासन भव्य रूप में दर्शन देकर भक्तों का हर दुख हर लेती हैं. 14 सौ सीढ़ियों का सफर तय... आगे पढ़े

किसके इंतजार में कुंवारी बैठी हैं माता वैष्णो देवी

Updated on 8 October, 2013, 10:31
जम्मू के त्रिकूट पर्वत पर एक भव्य गुफा है। इस गुफा में प्राकृतिक रूप से तीन पिण्डी बनी हुई। यह पिण्डी देवी सरस्वती, लक्ष्मी और काली की है। भक्तों को इन्ही पिण्डियों के दर्शन होते हैं। लेकिन माता वैष्णो की यहां कोई पिण्डी नहीं है। माता वैष्णो यहां अदृश रूप... आगे पढ़े

इन नवरात्रों में मां कराएंगी भक्तों का 'बेड़ापार'

Updated on 6 October, 2013, 9:00
नई दिल्ली नवरात्र के पावन दिनों की शुरुआत हो चुकी है. इन पावन नौ दिनों में हर तरफ मां का जयकारा सुनाई देता है, मां भक्तों के द्वार पर दस्तक देकर खुशियों से भर देती है अपने भक्तों की झोली. उसपर अगर शुभ ग्रहों संयोग के बीच हो जाए नवरात्र की... आगे पढ़े

शारदीय नवरात्र का शुभारंभ, पहले दिन शैलपुत्री की पूजा

Updated on 5 October, 2013, 11:24
नई दिल्ली शारदीय नवरात्र का आज शुभारंभ हो गया है। नवरात्र में पूजा के दौरान सबसे पहले शैलपुत्री की ही उपासना की जाती है। हिमालय के यहां पुत्री के रूप में जन्म लेने के कारण वह शैलपुत्री कहलाती हैं। वृषभ शैलपुत्री का वाहन है, इसलिए इन्हें वृषारूढ़ा के नाम से भी... आगे पढ़े

भीषण जलप्रलय के बाद केदारनाथ-बदरीनाथ धाम की यात्रा आज से शुरू

Updated on 5 October, 2013, 10:46
देहरादून जून महीने में भीषण जल प्रलय के बाद से रुकी बदरीनाथ और केदारनाथ धाम की यात्रा शनिवार यानी आज से विधिवत तरीके से शुरू हो गई है। दावा किया गया है कि इस यात्रा के लिए प्रशासन ने श्रद्धालुओं के लिए पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए हैं। हालांकि खराब रास्ते के साथ... आगे पढ़े

रघुनाथ धाम में होते हैं 33 करोड़ देवी - देवता के दर्शन

Updated on 30 September, 2013, 9:34
नई दिल्‍ली जम्मू का रघुनाथ धाम, ऐसा पवित्र स्थान है जहां एक दो नहीं बल्कि 33 करोड़ देवी देवताओं के दर्शनों का सौभाग्य भक्तों को मिलता है. यहां रघुनाथ के मुख्‍य मंदिर के आस-पास कई मंदिर हैं, जिसमें अलग-अलग देवी देवताओं का पूजा होती है. भगवान राम के इस धाम में जितना... आगे पढ़े

उज्‍जैन के मंगलनाथ मंदिर में है मंगल दोषों का निवारण

Updated on 25 September, 2013, 8:49
उज्‍जैन उज्जैन को पुराणों में मंगल की जननी कहा जाता है. ऐसे व्यक्ति जिनकी कुंडली में मंगल भारी रहता है, वे अपने अनिष्ट ग्रहों की शांति के लिए मंगलनाथ मंदिर में पूजा-पाठ करवाने आते हैं. मंगल दोष एक ऐसी स्थिति है, जो जिस किसी जातक की कुंडली में बन जाये तो उसे... आगे पढ़े

श्राद्ध में यहां के दर्शन से पितर होंगे संतुष्ट

Updated on 21 September, 2013, 9:22
नई दिल्ली हर साल आश्विन मास के कृष्ण पक्ष प्रतिपदा से अमावस्या तक के पंद्रह दिनों को पितृपक्ष कहा जाता है और यह समय सिर्फ पितरों के पूजन और तर्पण के लिए सुनिश्चित होता है. कहा जाता है कि इस समय पूर्वजों के स्मरण से न केवल उनकी आत्मा को तृप्ति... आगे पढ़े

श्राद्ध के लिए सर्वोत्तम स्थान है गया

Updated on 19 September, 2013, 22:18
गया (बिहार) वैदिक परंपरा और हिन्दू मान्यताओं के अनुसार पितरों के लिए श्रद्धा से श्राद्ध करना एक महान और उत्कृष्ट कार्य है. मान्यता के मुताबिक पुत्र का पुत्रत्व तभी सार्थक माना जाता है जब वह अपने जीवन काल में जीवित माता-पिता की सेवा करें और उनके मरणोपरांत उनकी मृत्यु तिथि (बरसी)... आगे पढ़े

नवनिर्माण के देवता भगवान विश्वकर्मा

Updated on 16 September, 2013, 19:56
विश्वकर्मा जयंती पर विशेष विश्वकर्माजी निर्माण के देवता हैं। यदि वास्तु की प्रतिष्ठा मानव ही नहीं, बल्कि देवताओं के बीच भी है, तो इसमें सबसे ज्यादा भूमिका भगवान विश्वकर्मा की ही है। उनके चरणों में सादर नमन। वास्तुदेव का प्राकाट्य भगवान शिव व उनके अंधक नामक गण के पसीने से हुआ था।... आगे पढ़े

...और मोरया के साथ हमेशा के लिए जुड़ गया गणपति का नाम

Updated on 16 September, 2013, 18:01
पुणे गणपति की अराधना में उनके हर भक्त की जुबान से ‘गणपति बप्पा मोरया, मंगलमूर्ति मोरया’, यही जयकारा सुनने को मिलता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कहां से हुइ इस जयकारे की उत्पत्ति. इसकी एक रोचक कहानी है. ये कहानी है एक भक्‍त और भगवान की, जहां भक्‍त की... आगे पढ़े

पूरी दुनिया को रचने वाले 'इंजीनियर' हैं भगवान विश्वकर्मा

Updated on 16 September, 2013, 7:03
नई दिल्ली हिंदू धर्म में मानव विकास को धार्मिक व्यवस्था के रूप में जीवन से जोड़ने के लिए विभिन्न अवतारों का विधान मिलता है. इन्हीं अवतारों में से एक भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का इंजीनियर माना गया है. इसका मतलब यह है कि पूरी दुनिया का ढांचा उन्होंने ही तैयार किया... आगे पढ़े

केदारनाथ में शुरू हुई शुद्धिकरण पूजा, शुद्धिकरण के बाद बाबा केदार का होगा जलाभिषेक

Updated on 11 September, 2013, 8:17
केदारनाथ उत्तराखंड में सैकड़ों तीर्थयात्रियों और स्थानीय लोगों की जान लेने वाली आपदा के 86 दिन बाद केदारनाथ मंदिर में आज से एक बार फिर पूजा शुरु हो गई है. हिमालयी तीर्थस्थल के गर्भ गृह को केदरनाथ-बद्रीनाथ समिति और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम के निरीक्षण में सजाया संवारा गया है. इससे पहले मंगलवार... आगे पढ़े

गणपति की पूजा से बरसेगा धन, पूरी होगी हर कामना

Updated on 9 September, 2013, 0:03
नई दिल्ली घर में जब हो गणपति का वास तो हर मुश्किल आसान हो जाती है और अगर दिन हो गणेश चतुर्थी का, उत्सव हो गणपति की आराधना का तो बाप्पा की कृपा पाने का इससे अच्छा मौका भला और क्या हो सकता है. भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि यानी गणपति... आगे पढ़े

अमर सुहाग की कामना का पर्व है 'तीज'

Updated on 8 September, 2013, 9:58
पटना भारतीय महिलाएं अपने पति की दीर्घायु और उनकी रक्षा के लिए साल भर कोई न कोई व्रत करती रहती हैं. भादो महीने में मनाई जाने वाली तीज इन पर्वों में प्रमुख मानी जाती है. देशभर में, खासकर उत्तरी हिस्सों में तीज पर्व की खूब चहल-पहल है. जब तीज की बात हो,... आगे पढ़े

क्यों गणेश से होता है शुभ कार्य का शुभारंभ?

Updated on 7 September, 2013, 8:25
नई दिल्ली अकसर लोग किसी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले संकल्प करते हैं और उस संकल्प को कार्य रूप देते समय कहते हैं कि हमने अमुक कार्य का श्रीगणेश किया. कुछ लोग कार्य का शुभारंभ करते समय सर्वप्रथम श्रीगणेशाय नम: लिखते हैं. यहां तक कि पत्रादि लिखते समय भी... आगे पढ़े

केदरानाथ मंदिर में 11 से शुरू होगी पूजा-अर्चना

Updated on 2 September, 2013, 10:50
देहरादून उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा कि राज्य में जून के मध्य में आई जल प्रलय के बाद से केदारनाथ में बंद पड़ी पूजा अर्चना 11 सितंबर से शुरू होगी। उन्होंने कहा कि पूजा सुबह सात बजे से पूर्वाह्न 11 बजे के बीच होगी और दीवाली पर मंदिर... आगे पढ़े

अदभुत रूप में दर्शन देते हैं शनि महाराज

Updated on 1 September, 2013, 8:02
नई दिल्‍ली सुनने में ये बात आपको हैरान कर सकती है कि सिंदूरी शनि महाराज 16 श्रृंगार में साक्षात दर्शन देते हैं. क्योंकि आमतौर पर शनि मंदिरों में शनि देव की काले पत्थर की प्रतिमा या शिला के बिना किसी श्रृंगार के दर्शन होते हैं, लेकिन इंदौर के जूनी शनि मंदिर... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण जन्म पर झूमी मथुरा नगरी

Updated on 29 August, 2013, 14:09
मथुरा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा-वृंदावन में विभिन्न प्रकार के आयोजनों की धूम रही. बुधवार मध्य रात्रि बारह बजे घड़ी की सुइयां एकसीध में आते ही लोग झूम उठे और वातावरण में बस एक ही स्वर गूंजने लगा ‘नन्द के आनंद भए, जय कन्हैया लाल की.’ अब... आगे पढ़े

इस जन्माष्टमी पर आसान नहीं होगा मुरली वाले को प्रसन्न करना

Updated on 28 August, 2013, 10:44
नई दिल्ली देशभर में आज जन्माष्टमी की धूम है. आज रात भगवान श्रीकृष्ण जन्म लेंगे. जगह-जगह भगवान की पूजा-अर्चना की विषेश व्यवस्था की गई है. जन्माष्टमी की पूजा और व्रत का भी खास महत्व होता है. रात के 12 बजे कान्हा लेते हैं जन्म रात 12 बजे जैसे ही धरती पर कान्हा के... आगे पढ़े

India City news Exclusive