खिलावन चंद्राकर 

भोपाल । यदि अगस्त- सितंबर में संभावित कोरोना की तीसरी लहर सामान्य रही और संक्रमण की संख्या में ज्यादा वृद्धि नहीं हुई तो मध्य प्रदेश में एक लोक सभा और तीन विधानसभा  चुनाव को निर्वाचन आयोग की हरी झंडी मिल सकती है। वैसे भी राज्य निर्वाचन आयोग ने अभी से इसकी तैयारियां शुरू कर दी है।इसी के साथ ही लंबे समय से स्थगित स्थानीय निकाय ,पंचायत ,मंडी और सहकारिता के चुनाव पर भी विचार किया जा सकता है।
आगामी उपचुनाव  को देखते हुए कांग्रेस ने तैयारियां शुरू कर दी है।

 

 कांग्रेस द्वारा आगामी चुनाव को देखते हुए प्रत्याशियों की तलाश भी शुरू कर दी गई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के संगठन उप प्रभारी संजय कपूर के भोपाल प्रवास और कुछ नेताओं से मुलाकात को भी इसी चुनावी तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है। इस बीच पता चला है कि जिन क्षेत्रों में उपचुनाव होने जा रहा है वहां का गोपनीय सर्वे भी निजी इवेंट कंपनियों से कराया जा रहा है। आगामी दिनों में पार्टी स्तर पर भी चुनाव जीतने योग्य पार्टी प्रत्याशी की तलाश के लिए और क्षेत्रीय नेताओं से रायशुमारी के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त हो सकते हैं।यह भी पता चला है कि संगठन प्रभारी महासचिव मुकुल वासनिक भी इसी सिलसिले में भोपाल आने वाले हैं और वे न सिर्फ उपचुनाव को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा करेंगे बल्कि प्रत्याशी चयन को लेकर भी वरिष्ठ नेताओं से चर्चा कर सकते हैं।
24 से 26 जून को बैठक प्रस्तावित
दमोह चुनाव  में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद कांग्रेस उत्साह में है। इस बीच अब कांग्रेस का फोकस खंडवा पर है। खंडवा लोकसभा सीट के अलावा मध्यप्रदेश के पृथ्वीपुर, जोबट और रैगांव विधानसभा में उपचुनाव होने हैं। बता दें कि अभी पीसीसी चीफ कमलनाथ दिल्ली दौरे पर हैं। वह स्वास्थ्य लाभ लेकर अस्पताल से घर भी लौट आए हैं। अभी राजस्थान में उठ रहे पार्टी नेताओं के बीच विवाद को समाप्त करने के काम में जुटे हुए हैं।23 जून को भोपाल आने के बाद 24, 25 और 26 जून को प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक ली जाएगी। इसमे चुनाव की रणनीति पर भी चर्चा की जाएगी। 


खंडवा से अरुण यादव की दावेदारी


पार्टी नेताओं द्वारा अपनी-अपनी दावेदारी  भी पेश किए जाने की खबर सामने आ रही है।पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव  ने खंडवा लोकसभा उपचुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है। यादव ने कहा कि खंडवा लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी पूरी है। अगर पार्टी उन्हें टिकट देती है तो वह जरूर खंडवा से चुनाव लड़ेंगे।  यादव की मांग पर पार्टी में भी सहमति की खबर सामने आ रही है। सूत्रों की माने तो पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से लेकर पार्टी के अन्य नेताओं में भी यादव को टिकट दिए जाने पर सहमति बरकरार है। ज्ञात हो कि खंडवा लोकसभा सीट भाजपा सांसद नंदकुमार चौहान के निधन के बाद से रिक्त हुई  है। जिसके बाद वहां पर लोकसभा उपचुनाव होने हैं।इसी तरह निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर विधानसभा पूर्व मंत्री और कांग्रेसी विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर की निधन के बाद, अलीराजपुर जिले का जोबट विधानसभा क्षेत्र कांग्रेसी विधायक कलावती भूरिया के निधन के बाद रिक्त हुआ है। इसी तरह सतना जिले का अनुसूचित जाति सुरक्षित रैगांव से भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी के निधन के बाद खाली हुई है । इन तीनों खाली सीटों पर विधानसभा उपचुनाव प्रस्तावित है।

-लेखक भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार हैं।

न्यूज़ सोर्स : ख़िलावन चंद्राकर जी भोपाल