शिवपुरी से रंजीत गुप्ता

शिवपुरी जिले में लगातार दूसरे दिन भी दिनभर वर्षा की स्थिति रही जिससे जिले में डूब क्षेत्र के कई गांव में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई। पोहरी के गांव के अलावा नरवर और करेरा में भी बाढ़ की स्थिति बनी और कई लोग जलभराव में फस गए। जिला प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम ने सक्रिय होकर लगातार रेस्क्यू अभियान चलाया और लोगों को बाढ़ से निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। दिन भर राहत एवं बचाव कार्य चलता रहा और सैकड़ों ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया।
नरवर के नवोदय विद्यालय में जलभराव होने से 25 से अधिक लोग फंस गए थे। वहाँ पहुंचकर तत्काल टीम ने रेस्क्यू कर लोगों को सुरक्षित निकाला। नरवर में 100 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। एसडीआरएफ की टीम द्वारा नाव के माध्यम से और स्थानीय ग्रामीणों की मदद से लोगों को सुरक्षित निकाला गया। इसके अलावा कुछ जगह गंभीर स्थिति बनी जहां एनडीआरएफ की टीम और हेलीकॉप्टर की मदद ली गई। बैराड़, करैरा और नरवर के कई गांव में हेलीकॉप्टर की मदद से लोगों को निकाला गया। बिची गांव ने पेड़ पर फसे 3 आदिवासी युवकों को सुरक्षित निकाला गया। 
पोहरी बैराड़ क्षेत्र के गांव हर्रई, बरखेड़ी, सिलपरी, रायपुर, कुकरेडा, अकुर्शी के अलावा करैरा नरवर क्षेत्र में सिहोरा, सिलारपुर, पनघटा, कोलारस में पचावली, पिपरौदा, घुरवार गांव, शिवपुरी में बिची, डोंगर, ख़यावदाकला सहित कई ग्राम प्रभावित हुए हैं। जहां प्रशासन और एसडीआरएफ और एनडीआरएफ टीम ने रेस्क्यू अभियान चलाया और लोगों को सुरक्षित निकाला।
संभागायुक्त श्री आशीष सक्सेना, कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक ने लगातार स्थिति की निगरानी की। क्षेत्र में भी जायज़ा लिया। जहां कहीं समस्या थी तत्काल टीम को भेजा ताकि लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा सके।

न्यूज़ सोर्स : रंजीत गुप्ता शिवपुरी