नई दिल्ली । दिग्गज मुक्केबाज डिंको सिंह का कैंसर से निधन हो गया है। डिंको सिंह लिवर कैंसर से पीड़ित थे और पिछले तीन वर्षों से उनका इलाज चल रहा था। वह पिछले साल कोरोना संक्रमित भी हुए थे।  1998 एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता मणिपुर के डिंको को साल 1998 में अर्जुन पुरस्कार और साल 2013 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने इस अनुभव मुक्केबाज के निधन पर शोक व्यक्त किया है। विजेंदर ने ट्वीट किया, 'मैं डिंको सिंह को श्रद्धांजलि देता हूं। उनके जीवन की यात्रा और संघर्ष आने वाली पीढ़ियों के लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत बनी रहेगी. मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि शोक संतप्त परिवार को दुख की इस घड़ी से उबरने की शक्ति मिले।'
वहीं डिंको के निधन पर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भी दुःख व्यक्त किया है। रिजिजू ने ट्वीट किया, 'मैं ​डिंको सिंह के निधन से बहुत दुखी हूं। वह भारत के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाजों में से एक थे।सा डिंको के साल 1998 बैकॉक एशियाई खेलों में जीते गए स्वर्ण पदक के बाद से ही भारतीय मुक्केबाजों में जीत का जज्बा जगा। मैं शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।' 
डिको ने साल 1997 में अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी में कदम रखा था। उन्होंने बैंकॉक में हुए किंग्स कप में स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद डिंको ने साल 1998 में बैंकॉक एशियाइ खेलों के बैंटमवेट वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। डिंको को भारतीय नौसेना में नियुक्त किया गया था, इसके साथ ही वह खिलाड़ियों को कोचिंग भी देते थे।