कोरोना महामारी को देखते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (2021) के बाकी बचे मुकाबलों में से ज्यादातर को मुंबई शिफ्ट किया जा सकता है। BCCI से जुड़े सूत्रों ने बताया कि इसके लिए मुंबई में तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं। सोमवार को KKR के दो खिलाड़ियों वरुण चक्रवर्ती और संदीप वॉरियर के कोरोना पॉजिटिव होने के कारण हड़कंप मच गया। RCB और KKR के बीच होने वाला मुकाबला भी टाल दिया गया।

इसी सप्ताह के आखिर से हो सकती है शिफ्टिंग
BCCI अधिकारियों के मुताबिक इस सप्ताह के आखिरी से ही IPL को मुंबई शिफ्ट किया जा सकता है। इसका मतलब यह होगा कि कोलकाता और बेंगलुरू में मैच नहीं खेले जाएंगे। साथ ही प्लेऑफ सहित फाइनल मुकाबला अहमदाबाद में नहीं होगा। ये तमाम मैच मुंबई में ही होंगे। हालांकि, इस बार में अभी अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है। उसके बाद ही कोई आधिकारिक घोषणा होगी।

मुंबई के 3 स्टेडियम में हो सकते हैं मैच
BCCI के इस प्लान के मुताबिक 8 या 9 मई से IPL के सभी मुकाबले मुंबई के तीन स्टेडियमों में खेले जा सकते हैं। वानखेडे के अलावा ब्रेबॉर्न और डीवाई पाटिल स्टेडियम में मैच होंगे। वानखेडे में सीजन के 10 मैच पहले ही खेले जा चुके हैं। बाकी दो स्टेडियम भी मैच रेडी बताए जा रहे हैं।

नरेंद्र मोदी स्टेडियम को बड़ा झटका
अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 12 मुकाबले होने थे। इनमें से अभी 6 मैच ही हुए हैं। देखना है कि 6 और 8 मई को होने वाले मुकाबले वहां होते हैं या नहीं। मुंबई मैच शिफ्ट होने से प्ले ऑफ और फाइनल जैसे बड़े मैच इस स्टेडियम से छिन जाएंगे।

शेड्यूल में भी हो सकता है बदलाव
अगर वीक-एंड से IPL के मैच मुंबई शिफ्ट होते हैं तो शेड्यूल में भी बदलाव संभव है। फिर वैसे दिनों की संख्या बढ़ सकती हैं जिनमें दो-दो मुकाबले (डबल हेडर) होने हैं। इसके अलावा फाइनल मैच भी 30 मई की जगह जून के पहले सप्ताह में हो सकता है।

वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का कार्यक्रम भी बदल सकता है
अगर IPL का आयोजन जून के पहले सप्ताह तक खिंचता है तो फिर इंग्लैंड में 18 से 22 जून तक होने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच का कार्यक्रम भी बदलना पड़ सकता है। अभी इंग्लैंड ने भारत से आने-जाने पर रोक लगा रखी है। अगर इसमें छूट भी दी जाती है तो खिलाड़ियों को 14 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। IPL जून के पहले सप्ताह तक खिंचने से 18 जून से फाइनल का आयोजन मुमकिन नहीं हो पाएगा।