भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भारत के द्वितीय राष्ट्रपति और महान शिक्षाविद् डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन कर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा निवास पर डॉ. राधाकृष्णन के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शिक्षा और शिक्षकों के संबंध में उनके विचारों से आज की व्यवस्था भी प्रेरणा लेती है। डॉ. राधाकृष्णन स्वतंत्र भारत के प्रथम उप राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे। उन्होंने अपने जीवनकाल में 40 वर्ष तक शिक्षक के रूप में सेवाएँ दीं, वे एक आदर्श शिक्षक थे। डॉ. राधाकृष्णन का जन्म दिवस 5 सितम्बर पूरे देश में शिक्षक दिवस की रूप में मनाया जाता है। डॉ. राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के अध्येयता, महान दार्शनिक और प्रभावी वक्ता थे। उन्होंने कई पुस्तकें लिखीं। डॉ. राधाकृष्णन को शिक्षा और राजनीति में उत्कृष्ट योगदान के लिए 1954 में सर्वोच्च अलंकरण 'भारत रत्न' से सम्मानित किया गया।