राज्य शासन ने अस्पतालों में संक्रमण की संभावना को समाप्त करने के लिये कोविड-19 के मरीजों के प्रबंधन के लिये अलग से चिन्हित अस्पताल अथवा वार्ड की व्यवस्था करने के निर्देश जारी किये हैं। आयुक्त स्वास्थ्य ने इस संबंध में सभी चिकित्सा महाविद्यालयों, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों, सिविल सर्जनों और निजी चिकित्सालयों को इस संबंध में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने को कहा है।

समर्पित अस्पतालों की व्यवस्था से संक्रमण की संभावनाओं के बिना कोविड-19 के मरीजों की विशेष आवश्यकताओं की पूर्ति हो सकेगी। चिन्हित अस्पतालों और वार्डों में आगमन और निर्गम की व्यवस्था भी अलग रहेगी। आईसीयू, क्रिटिकल केयर, लैब तथा अन्य जाँच आदि आवश्यक सेवाओं की व्यवस्था के साथ रसोई और लाण्ड्री भी अलग करना होगी। जिला कलेक्टर्स को पूरी तरह चिन्हित अस्पतालों तथा वार्डों का बेहतर प्रबंधन करने के लिये कहा गया है।