टोक्यो: भारत की दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. पीवी सिंधु ओलंपिक में लगातार दो मेडल जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं. पीवी सिंधु ने इससे पहले रियो ओलंपिक में रजत पदक जीता था. पीवी सिंधु ओलंपिक के व्यक्तिगत इवेंट में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी हैं.

सिंधु ने रचा इतिहास
पुरुषों में पहलवान सुशील कुमार (कांस्य- बीजिंग 2008, रजत- लंदन 2012) ने यह कारनामा किया था. पहलवान सुशील कुमार के बाद लगातार दो ओलंपिक पदक जीतने वाली सिंधु दूसरी भारतीय और पहली भारतीय महिला हैं. सुशील ने 2008 के बीजिंग ओलंपिक में कांस्य और 2012 के लंदन ओलंपिक में रजत पदक जीता था.

बैडमिंटन में ओलंपिक मेडल जीतने वाले शटलर 
साइना नेहवाल -ब्रॉन्ज मेडल : लंदन ओलंपिक (2012)
पीवी सिंधु- सिल्वर मेडल: रियो ओलंपिक (2016)
पीवी सिंधु- ब्रॉन्ज मेडल: टोक्यो ओलंपिक (2020)

दूसरे ओलंपिक में दूसरे मेडल पर कब्जा 
सिंधु ने ब्रॉन्ज मेडल के मैच में चीन की शटलर बिंगजिआओ पर 21-13 और 21-15 से जीत दर्ज की है. ध्यान रखने वाली बात यह है कि यह सिंधु का मात्र दूसरा ओलंपिक था. रियो में सिंधु ने डेब्यू किया था. सिंधु रियो ओलंपिक के फाइनल में स्पेन की केरोलिना मारिन के हाथों हार गई थीं. टोक्यो में सिंधु को सेमीफाइनल में ताइवान की ताए जू यिंग के हाथों हार मिली थी.