जबलपुर में मौतें बढ़ीं:श्मशान घाट में जगह नहीं मिली तो जमीन पर शव का अंतिम संस्कार किया; प्रशासन- चार श्मशानों में अब हर दिन औसत से तीन गुना शव आ रहे हैं
 

रानीताल श्मशान घाट में शव का जमीन पर अंतिम संस्कार करते परिजन।
हाईकोर्ट की मुख्यपीठ जबलपुर को 16 से 20 सितंबर तक बंद कर दिया गया है

जबलपुर के रानीताल श्मशान घाट में दाह संस्कार के लिए प्लेटफार्म नहीं मिला तो परिजनों ने शव को जमीन पर चिता बनाकर अंतिम संस्कार कर दिया। प्रशासन का कहना है कि चार श्मशानों में अब हर दिन औसत से तीन गुना शव आ रहे हैं। इनमें सामान्य मौतें और कोविड संक्रमित भी शामिल हैं।

जबलपुर | कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए हाईकोर्ट की मुख्यपीठ जबलपुर को 16 से 20 सितंबर तक बंद कर दिया गया है। हालांकि पांच दिन के बंद के दौरान हाईकोर्ट के दो दिन ही वर्किंग डे थे। 17 सितंबर को पितृपक्ष अमावस्या, 19 सितंबर को द्वितीय शनिवार और 20 सितंबर को रविवार का अवकाश है।